Category archive

poems - page 10

माँ

in poems

तू कैसे जान लेती है माँ मेरी भूख को, मेरी प्यास को मैं चाहती हूं क्या? और मेरी आस को ? वो कौन सा जादू है माँ वो मुझे भी सीखा दे तू वो कौन सी थाती है माँ वो मुझे भी दिखा दे तू दुनिया के सारे गरल कर पान तू जीवित रही कैसे…

Keep Reading

1 8 9 10
Go to Top