Tag archive

thoughts

सुविचार

in poems

मुस्कुराती रात हो, खिलखिलाता प्रात हो, हर सुबह के सूर्य में, कुछ विशेष बात हो।

Keep Reading

Go to Top