Trust

विश्वास

in poems

प्रेम हो विश्वास हो,
न्याय का अहसास हो,
धुंधलाते परिदृश्य में भी,
न्याय की ही बात हो।